Popular Posts

Tuesday, November 4, 2014

मिथिला का हर व्यक्ति मैथिल : पप्पू

सांसद पप्पू यादव ने कहा कि कवि विद्यापति जात-पात से उठकर समाज का कल्याण किया। मिथिला में रहने वाले हर व्यक्ति मैथिल हैं। मैथिली हम सबकी भाषा है। उन्होंने उपस्थित जनों को सलाह दी कि महज विद्यापति पर्व का आयोजन से समाज का कल्याण नहीं हो सकता। वे जिस तरह अपने विचारों के प्रति निष्ठावान थे हमें भी बनना होगा। उन्होंने अपनी भक्ति से गंगा की धारा को मुड़ने पर बाध्य कर दिया। हम भी यदि अपने विचारों के प्रति संकल्पित होकर समाज से जात-पात, छुआछूत एवं गलत भोजन का परित्याग करें तो एक नए समाज का कल्याण होगा। ऐसी हालत में जातपात जैसी बीमारी स्वत: समाप्त हो जाएगी।
प्रखंड मुख्यालय के समीप विद्यापति स्मारक परिसर में मंगलवार को विद्यापति स्मृति समारोह का उद्घाटन सांसद राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव ने किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता स्थानीय विधायक डा. फैयाज अहमद ने की। सर्वप्रथम सांसद पप्पू यादव ने विद्यापति की प्रस्तर मूर्ति पर माल्यार्पण किया। कुमारी बबीता द्वारा गोसाउनिक गीत से प्रारंभ हुआ। अपने भाषण में सांसद पप्पू यादव ने कहा कि यह बिस्फी धन्य है। यहां विद्यापति जैसा समाज सुधारक जन्म लेकर पूरे देश को सुगंधित किया। उन्होंने अपने समय में समाज की अव्यवस्था, कुप्रथा को देखा था। जिसे उन्होंने अपनी रचना के माध्यम से समाज को एक नई दिशा देने का प्रयास किया। श्री यादव ने समाज व्याप्त बुराइयों की ओर इंगित करते हुए युवा शक्ति को संगठित होकर नए समाज की रचना में अपनी भूमिका सुनिश्चित करने का आह्वान किया। आगंतुकों को धर्मवीर, विष्णुदेव यादव, विजय कुमार, उमेश राय, कैलाश कुमार, सूर्य नारायण आदि ने पाग-दोपंटा से सम्मानित किया। कार्यक्रम को विधायक उमाकांत यादव, रामअवतार पासवान, शालीग्राम यादव, विष्णुदेव यादव, सुनीता देवी, अजीत कुमार यादव, शीला देवी, राजकुमार यादव, उमेश कुमार यादव, मो. जियाउद्दीन आदि ने संबोधित किया। मंच संचालन चन्द्रेश प्रसाद ने किया।
Source: Jagran

No comments:

Post a Comment